ट्रेंड ट्रेडिंग की विशेषताएं

अलग स्टॉक हैं?

अलग स्टॉक हैं?
Maturity ट्रेन्ड चार्ट:- जब आप सभी स्टेप फॉलो कर रहे हो तब अलग स्टॉक हैं? आपको अंतिम में देखना चाहिए कही वो स्टॉक कम समय में बहुत ज्यादा ऊपर तो चला नहीं गया। अगर आपको लगता है प्रॉफिट बुकिंग का समय आ चकता है। उस स्टॉक के चार्ट से आपको दूर रहना चाहिए।

Share-market-chart-kaise-samjhe

Share market chart kaise samjhe | शेयर मार्किट चार्ट एनालिसिस

Share market chart kaise samjhe– दोस्तों अगर आपको सही समय पर अच्छा मुनाफा कमाई करना है तो शेयर मार्किट चार्ट एनालिसिस करना जरुर आना चाहिए। इससे आप कम समय में ही अपने नुकशान को कम करके बहुत अच्छा रिटर्न कमाई कर चकते हो।

अगर आप बिना सीखे शेयर मार्केट में ट्रेडिंग या इन्वेस्टमेंट करते हो तो आप एकतरह से जुआ खेल रहे हो इससे आपको नुकशान होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाता हैं। आपको पता होना चाहिए कब स्टॉक को खरीदना चाहिए और कब प्रॉफिट कमाई करके बेचना चाहिए।

इसी को जानने के लिए आपको Share Market के चार्ट को अच्छी तरह समझना बहुत जरुरी हैं। क्यूंकि इसी से ही आपको पता लगेगा स्टॉक ऊपर या नीचे जाने की कितने ज्यादा संभावना हैं।

Share market chart kaise samjhe

ज्यादातर रिटेल निवेशक किसी भी चार्ट को खोलते ही उनके मन में इस चार्ट में देखे किया और शुरु कहा से करे ये सवाल जरुर आता हैं। शेयर मार्केट में किसी भी चार्ट को समझने के लिए सबसे पहले बहुत ज्यादा अभ्यास की जरुरत पड़ती हैं। उसके बाद ही काम आएगा आपका विश्लेषणात्मक कौशल जो आपको प्रयोग करना होगा उस चार्ट में।

Chart का अलग स्टॉक हैं? Trend देखना चाहिए:- किसी भी स्टॉक के चार्ट अच्छी तरह से समझने के लिए आपका सबसे पहला काम होना चाहिए उस शेयर के Trend किस तरफ जा रहा हैं। उसको अच्छी तरह से देखना बहुत जरुरी हैं। वैसे तो चार्ट में 3 तरह का Trend देखने को मिलेगा। इन तीनो Trend के अन्दर से कोई ना कोई एक Trend में वो स्टॉक या Chart जरुर फॉलो कर रहा होगा। और इन ट्रेन्ड में काम करने के तरीका भी अलग अलग होता हैं।

  • Up Trend:- इस Trend का मतलब है Higher Top and Higher Bottom। जब भी चार्ट इस Trend को फॉलो करेगा आपको लगातार स्टॉक सीढ़ी की तरह ऊपर जाते ही नजर आएगा। तब आपको हमेसा उस स्टॉक को खरीदना चाहिए।

शेयर मार्केट चार्ट कैसे समझे और कमाई

रिस्क और रिवॉर्ड विश्लेषण:- अगर आप ऊपर दिए गए स्टेप को फॉलो करके कोई चार्ट को सेलेक्ट किया हो तो आपको उस चार्ट का Support और Resistant को ध्यान से देखना चाहिए। उसके बाद आपका Stop Loss वोही होना चाहिए जहा उस चार्ट ने हाल ही में कोई Support लेके ऊपर की तरफ गया हैं।

जहा पर Support लिया है स्टॉक ने, वहा आपको Stop Loss लगाना चाहिए। लेकिन ध्यान में रखना चाहिए आपका Stop Loss बहुत दूर ना हो। अगर आपको लगता है की रिस्क बहुत कम है और रिवॉर्ड बहुत अलग स्टॉक हैं? ज्यादा मिल चकता है तभी आपको उस चार्ट में ट्रेड लेना चाहिए।

पतियोगी स्टॉक के चार्ट:- आप जिस भी स्टॉक के चार्ट को सेलेक्ट किया हो बाकि पतियोगी कंपनी को भी देखना चाहिए कैसा पदर्शन कर रहा हैं। आपको ध्यान में रखना चाहिए वो अलग स्टॉक हैं? स्टॉक उस सेक्टर में बाकि पतियोगी कंपनी से बेहतर पदर्शन दिखा रहा हैं।

Stock Exchange: 147 साल का हुआ BSE, क्या आप जानते हैं कि बरगद के पेड़ के नीचे 5 लोगों ने की थी इसकी शुरुआत

Alok Kumar

Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: July 23, 2022 16:55 IST

BSE- India TV Hindi

Photo:FILE BSE

Stock Exchange: बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज सेंसिटिव इंडेक्स (बीएसई सेंसेक्स) लाखों भारतीयों की जीवन रेखा है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) को शुरू हुए 147 साल हो गए है। 9 जुलाई 1875 में इसकी शुरुआत हुई थी। इसे बीएसई-30 या सिर्फ सेंसेक्स के नाम से भी जाना जाता है। भारतीय पूंजी बाजार के विकास में अलग स्टॉक हैं? इस एक्सचेंज की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इसके सूचकांक पर दुनियाभर की निगाहें रहती हैं। भारत के अलग-अलग सेक्टर्स की तीस प्रमुख, सक्रिय और वित्तीय रूप से मजबूत कंपनियां इस बाजार का संचालन करती हैं। ये कंपनियां भारतीय अर्थव्यवस्था का भी प्रतिनिधित्व करती हैं। हालांकि, आपको जानकार हैरानी होगा कि एशिया के सबसे प्राचीन स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई सेंसेक्‍स की शुरुआत किसी बिल्‍डिंग में नहीं थी, बल्कि एक बरगद के पेड़ नीचे हुई थी। आज जहां हार्निमन सर्कल है, जो साउथ मुंबई में एक जगह है, वहीं पर पेड़ के नीचे स्टाॅक एक्सचेंज की शुरुआत हुई थी।

स्टॉक मार्केट की थीम वाला शादी का कार्ड हुआ वायरल, परिवार को बनाया निवेशक!

शादी का सीजन चल रहा है और बहुत से लोग अपनी या अपने सगे-संबंधियों की शादी की तैयारियों में लगे हुए हैं. जब से सोशल मीडिया लोगों पर हावी हुआ है, तब से ही लोग शादियों को या उससे जुड़ी चीजों को फेमस करने में लग जाते हैं. ऐसे में आपको डांस करती हुई दुल्हन दिख जाएगी या फिर स्टेज पर ही पुशअप करते दूल्हा-दुल्हन नजर आ जाएंगे. उसी प्रकार लोग अपने शादी के कार्ड को भी अलग और यूनिक लुक देने के पीछे पड़े रहते हैं. हाल ही में एक ऐसा ही अलग सा शादी का कार्ड (stock market theme wedding card) वायरल हो रहा है जो स्टॉक मार्केट की थीम पर बना है.

कुछ दिनों पहले हमने आपको एक शादी के कार्ड के बारे में बताया था जो हरियाणवी (Haryanavi wedding card) में था. अब जो कार्ड चर्चा में है वो स्टॉक मार्केट (viral wedding card) की थीम पर है. द स्टॉक मार्केट अलग स्टॉक हैं? इंडिया नाम के इंस्टाग्राम अकाउंट पर इस वीडियो को पोस्ट किया गया है जिसमें कार्ड का पूरा मैटर स्टॉक मार्केट से जुड़ा है और उसमें जो शब्दावली का प्रयोग किया गया है, वो भी स्टॉक मार्केट से जुड़ा हुआ है. आपको बता दें कि ये कार्ड एक डॉक्टर का है जो महाराष्ट्र के नांदेड़ के रहने वाले हैं.

प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट में क्या अंतर है? कैसे होता है इसमें निवेश

प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट में क्या अंतर है? कैसे होता है इसमें निवेश

यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो आपको पहले प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट के बीच के अंतर को समझना होगा . शेयर मार्केट के एक्सपर्ट आमतौर पर प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं . आपने भी प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट के बारे में अक्सर सुना होगा . क्या आप जानते हैं इनका क्या मतलब होता है और इनमें क्या अंतर है ? दरअसल शेयर मार्केट दो तरह के होते हैं – प्राइमरी मार्केट और सेकेंडरी मार्केट . क्या आपको पता है कि दोनों मार्केट एक दूसरे से कैसे अलग हैं ?

प्राइमरी मार्केट

नई सिक्योरिटीज जैसे नए शेयर और बांड प्राइमरी मार्केट में जारी किए जाते हैं . प्राइमरी मार्केट में कंपनियां निवेशकों को शेयर बेचती हैं और पैसा जुटाती हैं . प्राइमरी मार्केट में सीधे कंपनी और निवेशकों के बीच लेनदेन होता है . ऐसे कई अलग – अलग तरीके हैं जिनके माध्यम से एक कंपनी प्राइमरी मार्केट से पूंजी जुटा सकती है . इनमें पब्लिक इश्यू (IPO), प्राइवेट प्लेसमेंट और राइट्स इश्यू शामिल हैं .

इन्वेस्टमेंट के लिए खोले जाने वाले अकाउंट

    .
  1. Trading Account.

जब आपके ये दोनों Account एक Stock Broker के माध्यम से खोल दिए जाते हैं, तो आप इसके बाद से ही अपना हिस्सा खरीदने और बेचने का काम भी प्रारम्भ कर सकते है इसके अलावा मार्केट में मिनिमम इन्वेस्टमेंट करने के लिए किसी भी प्रकार कोई भी नियम नहीं बनाया गया है और न ही किसी भी प्रकार की लिमिट तय की गई है | इसमें आप अपने बजट के अनुसार निवेश कर सकते है | इसलिए आप निवेश करने के लिए 200 कीमत वाले शेयर भी खरीद सकते हैं और आप अपने बजट के मुताबिक़ stock खरीद सकते हैं लेकिन आपको बाजार में Invest करने के लिए अच्छे Stock Broker का चुनाव करना बहुत ही अनिवार्य होता है |

ऑनलाइन शेयर के लिए निवेश कैसे करें

ऑनलाइन शेयर में निवेश करने के लिए आपके पास सबसे पहले Demat Account होना बहुत ही जरूरी होता है , जिसे आप एक Broker के माध्यम से आसानी के साथ खुलवा सकते है | इसके अलावा आप आपका जिस भी बैंक में Saving अकाउंट है वहां से भी आप Demat Account खुलवा सकते हैं |

इसलिए यदि आप Demat Acount खुलवाते है, तो आपके पास Saving Account का होना भी अतिआवश्यक है और इसके साथ ही आपके पास Internet banking भी होना चाहिए ।

Demat Account के लिए आवश्यक दस्तावेज

    .
  • Address Proof.
  • Passport Size Photos.
  • Account Check Book.
  1. यदि आप Stock Market में निवेश करते है, तो इसके लिए आपके पास बैंक एकाउंट, Demat एकाउंट, Trading एकाउंट का होना बहुत ही जरूरी होता है |
  2. अलग स्टॉक हैं?
  3. Invest करने से पहले आप जिस कम्पनी में निवेश करना चाहते हैं उस कंपनी की बिज़नेस कैसी है, परफॉरमेंस कैसी है | कंपनी की मैनेजमेंट अच्छी है या नहीं | इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए |
  4. शेयर खरीदने के लिए Investors को अच्छे fundamentals वाली कंपनियों में ही पैसे लगाने की जरूरत है |

यहाँ पर हमने आपको शेयर मार्केट के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | अन्य सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए कमेंट करे | अधिक जानकारी के लिए पोर्टल hindiraj.com पर विजिट करे |

रेटिंग: 4.22
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 658
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *