फॉरेक्स ट्रेडर्स पोर्टल

तरलता क्या है

तरलता क्या है
पदार्थ की वह अवस्था है जिसमें पदार्थ ऐसा व्यवहार करता है जैसे वह शून्य श्यानता का द्रव हो। मूलतः यह गुण द्रव हिलियम में पाया गया था किन्तु अति-तरलता का गुण खगोलभौतिकी, उच्च ऊर्जा भौतिकी, तथा क्वाण्टम गुरुत्व के सिद्धान्तों में भी में भी देखने को मिलता है। यह परिघटना बोस-आइंस्टाइन संघनन से सम्बन्धित है। किन्तु सभी बोस-आइंस्टाइन द्राव (condensates) अति तरल नहीं कहे जा सकते है और सभी अति तरल बोस-आइंस्टाइन द्रव नहीं होते।

Taralta (तरलता) Meaning In English


Tags: Taralta, Taralta meaning in English. Taralta in english. Taralta in english language. What is meaning of Taralta in English dictionary? Taralta ka matalab english me kya hai (Taralta का अंग्रेजी में मतलब ). Taralta अंग्रेजी मे मीनिंग. English definition of Taralta. English meaning of Taralta. Taralta का मतलब (मीनिंग) अंग्रेजी में जाने। Taralta kaun hai? Taralta kahan hai? Taralta kya hai? Taralta kaa arth. Hindi to english dictionary(शब्दकोश).तरलता को अंग्रेजी में क्या कहते हैं.

इस श्रेणी से मिलते जुलते शब्द:

ये शब्द भी देखें:

synonyms of Taralta in Hindi Taralta ka Samanarthak kya hai? Taralta Samanarthak, Taralta synonyms in Hindi, Paryay of Taralta, Taralta ka Paryay, In “gkexams” you will find the word synonym of the Taralta And along with the derivation of the word Taralta is also given here for your enlightenment. Paryay and Samanarthak both reveal the same expressions. What is the synonym of Taralta in Hindi?

अति तरलता क्या है इसकी परिभाषा | What Is Super Fluidity In Hindi

What Is Super Fluidity In Hindi

पदार्थ की वह अवस्था है जिसमें पदार्थ ऐसा व्यवहार करता है जैसे वह शून्य श्यानता का द्रव हो। मूलतः यह गुण द्रव हिलियम में पाया गया था किन्तु अति-तरलता का गुण खगोलभौतिकी, उच्च ऊर्जा भौतिकी, तथा क्वाण्टम गुरुत्व के सिद्धान्तों में भी में भी देखने तरलता क्या है को मिलता है। यह परिघटना बोस-आइंस्टाइन संघनन से सम्बन्धित है। किन्तु सभी बोस-आइंस्टाइन द्राव (condensates) अति तरलता क्या है तरल नहीं कहे जा सकते है और सभी अति तरल बोस-आइंस्टाइन द्रव नहीं होते।

हिलियम सतह से तरलता क्या है ‘रेंगते हुए’ अपना ‘स्तर’ स्वयं ढूंढ़ लेती है, लेकिन कुछ समय बाद देखेंगे द्रव हिलियम का स्तर एकसमान हो जायेगा।

तो आपको यह पोस्ट अति तरलता क्या है परिभाषा What Is Super तरलता क्या है Fluidity In Hindi की जानकारी कैसा लगा कमेंट मे जरूर बताए और इस पोस्ट को लोगो के साथ शेयर भी जरूर करे…

तरलता समायोजन सुविधा (Liquidity Adjustment Facility) क्या है?

हाल ही में, भारतीय रिज़र्व बैंक ने तरलता प्रबंधन को और अधिक कुशल बनाने के लिए क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (RRB) के लिए तरलता समायोजन सुविधा (LAF) का विस्तार करने का निर्णय लिया है। बैंकिंग तरलता क्या है क्षेत्र सुधारों पर नरसिम्हम समिति की सिफारिशों के आधार पर 1998 में RBI में LAF की शुरुआत की गई थी।

तरलता समायोजन सुविधा क्या है?

दरअसल यह एक मौद्रिक नीति उपकरण है जो बैंकों को पुनर्खरीद समझौते या रेपो के माध्यम से अस्थायी नकदी की कमी को हल करने में सक्षम बनाता है। यह नकदी जुटाने के लिए रिवर्स-रेपो के माध्यम से आरबीआई को ऋण दे सकता है।

अन्य उपकरण

आरबीआई देश में तरलता के प्रवाह को नियंत्रित करने के लिए चार उपकरणों का उपयोग करती है, वे हैं : नकद आरक्षित अनुपात (CRR), तरलता समायोजन सुविधाएं (रेपो दर और रिवर्स रेपो दर सहित), वैधानिक तरलता अनुपात और ओपन मार्केट ऑपरेशन।

तरलता समायोजन सुविधा के मुख्य घटक

तरलता समायोजन सुविधा के दो मुख्य घटक रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट हैं। रेपो दर वह दर है जिस पर बैंक भारतीय रिज़र्व बैंक से पैसा उधार लेते हैं। धनराशि उधार लेते समय, बैंक सरकारी प्रतिभूतियों को संपार्श्विक (collateral) के रूप में रखते हैं। रिवर्स रेपो दर वह दर है जिस पर RBI बैंकों से पैसा उधार लेता है। रिवर्स रेपो प्रणाली से तरलता को अवशोषित करने में मदद मिलती है।

नरसिम्हम समिति

नरसिम्हम समिति ने मूल रूप से बैंकिंग और वित्तीय प्रणालियों के कामकाज में बदलाव की सिफारिश की थी। इस समिति ने निम्नलिखित सिफारिशें कीं थी :

Liquidity Meaning in Hindi

Liquidity meaning in Hindi लिक्विडिटी क्या है अर्थव्यावस्था और बाजार के संदर्भ में लिक्विडिटी का क्या मतलब होता है? बाजार में लिक्विडिटी की जानकारी। किन परिसंपत्तियों की लिक्विडिटी अधिक होती है और किन में कम। साथ ही समझेंगे शेयर मार्केट कैसे शेयरों तथा अन्य प्रतिभूतियों के लिये तरलता प्रदान करते है। साथ ही समझेंगे लिक्विडिटी का उस परिसंपत्ती की बाजार की कीमतों पर क्या असर होता है। अलग अलग परिसंपत्ती में कैसे अलग होता है लिक्विडिटी का स्तर और कैसे यह किसी के निवेश करने के निर्णय को प्रभावित कर सकता है। RBI कैसे Liquidity को नियंत्रित करता है। शेयरों में लिक्विडिटी प्रदान करने के लिये शेयर बाजार का महत्व होता है।

लिक्विडिटी क्या है Liquidity Meaning in Hindi.

लिक्विडिटी क्या है Liquidity in Hindi.

Liquidity meaning in Hindi and its importance in share market and other markets.

Liquidity Meaning in Hindi

इसे साधारण हिंदी में चल निधी कहते है मगर यहां सुविधा के लिये हम लिक्विडिटी शब्द का ही प्रयोग करेंगे। Liquidity का शाब्दिक तरलता क्या है अर्थ है तरलता। तो आसानी से समझने के लिये हम कह सकते हैं कि यदि बाजार में किसी चीज को जब हम खरीदने जाते हैं और उसकी उपलब्धता निरंतर बनी रहती है तो उस वस्तू में पर्याप्त तरलता है यह हम मान सकते हैं।

Liquidity Meaning in Hindi नकदी

Liquidity in Hindi तरलता उस स्तर का वर्णन करती है जिस पर परिसंपत्ति की कीमत को प्रभावित किए बिना बाजार में संपत्ति या शेयर को तुरंत खरीदा या बेचा जा सकता है। बाजार की Liquidity उस स्तर को इंगित करती है जिस पर बाजार जैसे कि शेयर बाजार या शहर के प्रॉपर्टी बाजार में संपत्तियों को स्थिर कीमतों पर खरीदा या बेचा जा सकता है। नकदी को सबसे अधिक लिक्विड माना जाता है जबकि प्रॉपर्टी, बढ़िया कला और अन्य सभी संग्रहणीय तरलता क्या है वस्तुएं अपेक्षाकृत कम लिक्विड होतीं हैं।

Liquidity के मानक

नकदी को तरलता के लिए मानक माना जाता है क्योंकि यह अन्य संपत्तियों में सबसे तेज़ी से और आसानी से परिवर्तित की जा सकती है। यदि कोई व्यक्ति ₹25000 का टीवी खरीदना चाहता है तो नकदी वह संपत्ति है जिसके बदले में इसे आसानी से खरीदा जा सकता है। अब यदि उसके पास ₹25000 के गहने हैं तो उसे इन गहनों को दे कर टीवी खरीदने में थोड़ी कठिनाई हो सकती है। तरलता क्या है उसे पहले गहने बेच कर नकदी जुटानी होगी जिसमें थोड़ा समय लग सकता है। फिर उस नकदी से वह टीवी खरीद सकता है। तो हम कह सकते हैं कि नकदी की लिक्विडिटी गहनों से अधिक है।

बाजार में Liquidity

ऊपर के उदाहरण में आपने देखा कि गहनों के बदले टीवी खरीदना लगभग असंभव है क्योंकि इस तरह का कोई बाजार नहीं है जहां गहने और टीवी की अदला बदली होती हो। शेयर बाजार में शेयरों की इतनी तरलता उपलब्ध रहती है कि लगभग तुरंत ही किसी भी शेयर के लिये खरीददार और बेचने वाला मिल जाते हैं और तेज गति से सौदों का निपटान हो जाता है। रियल एस्टेट बाजार में शेयर बाजार के मुकाबले बहुत कम लिक्विडिटी होती है।

निवेश में कारक

ऐसा कई बार होता है कि बाजार में खरीददार ना मिलने के कारण प्रॉपर्टी को उसकी बाजार कीमतों से कम कीमतों पर बेचना पड़ सकता तरलता क्या है है। जब भी आप किसी परिसंपत्ती में निवेश करें तो इस बात का हमेशा ध्यान रखें तरलता क्या है कि उस परिसंपत्ती में कितनी तरलता है और उसे बेचने में कोई कठिनायी तो नहीं आयेगी।

RBI कैसे Liquidity को नियंत्रित करता है

RBI बैंकों में फंड़स की Liquidity को नियंत्रित करता है। यहां लिक्विडिटी का मतलब है फ्लो ऑफ फंड यानी पैसों की उपलब्धता. बैंक और फाइनेंशियल संस्थान बिजनेस लोन और उपभोक्ता लोन द्वारा आम लोगों को फंड मुहैया कराते हैं. यह लोन आमतौर पर वस्तुओं की मांग बढाने वाले होते हैं. यह बढ़ी मांग मुद्रास्फीति के बढ़ने का कारण बनती तरलता क्या है है. इसी लिए RBI समय समय पर ब्याज दरों और CRR में बदलाव कर इस लिक्विडिटी पर नियंत्रण रखता है.

Liquidity Operation: जरूरत पड़ने पर तरलता संचालन में सुधार करेगा आरबीआई

Liquidity Operation: तरलता क्या है जरूरत पड़ने पर तरलता संचालन में आरबीआई सुधार करेगा.

Published: September 1, 2021 9:30 AM IST

RBI RESERVE BANK OF INDIA

Liquidity Operation: गवर्नर शक्तिकांत दास ने मंगलवार को कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) जरूरत पड़ने पर, समय-समय पर तरलता के संचालन में सुधार करेगा. उन्होंने एफआईएमएमडीए-पीडीएआई वार्षिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि रिजर्व बैंक प्रणाली में आरामदायक तरलता की स्थिति बनाए रखने के अपने प्रयास के एक अभिन्न तत्व के रूप में सरकारी प्रतिभूति बाजार में पर्याप्त तरलता सुनिश्चित करने का प्रयास करेगा.

Also Read:

उन्होंने कहा, “इस प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाने का प्रयास जारी है, क्योंकि बाजार नियमित समय पर व्यवस्थित हो जाते हैं और कामकाज और तरलता संचालन सामान्य हो जाता है, रिजर्व बैंक समय-समय पर फाइन-ट्यूनिंग संचालन भी करेगा, जैसा कि अप्रत्याशित और एकमुश्त तरलता प्रवाह का प्रबंधन करने के लिए आवश्यक है, ताकि तरल स्थिति प्रणाली में संतुलन आए और यह समान रूप से विकसित हो.

यह देखते हुए कि सरकारी प्रतिभूतियां एक अलग परिसंपत्ति वर्ग हैं, दास ने कहा कि अर्थव्यवस्था के समग्र मैक्रो ब्याज दर के माहौल में सरकारी प्रतिभूति बाजार की भूमिका की सराहना करना महत्वपूर्ण है.

उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षो में सरकारी प्रतिभूतियों का बाजार और इससे जुड़े बाजार के बुनियादी ढांचे एक ऐसे चरण में पहुंच गए हैं, जहां इसे दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में से एक माना जा सकता है.

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि ये घटनाक्रम अन्य प्रमुख वित्तीय बाजारों जैसे कि ब्याज दर डेरिवेटिव और विदेशी मुद्रा बाजारों के लिए बाजारों को विकसित करने और उदार बनाने के प्रयासों के साथ-साथ विभिन्न बाजारों और बाजार के बुनियादी ढांचे में संबंध बनाने के प्रयासों के साथ हुआ है.

उन्होंने कहा, “हमने देश में वित्तीय बाजारों को विकसित करने में एक लंबा सफर तय किया है, लेकिन यह एक सतत यात्रा है और साथ में हम इसे और भी मजबूत और जीवंत बना सकते हैं.”

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

रेटिंग: 4.88
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 443
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *