फॉरेक्स ट्रेडर्स पोर्टल

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?
How to Make aCryptocurrency

TECNO मोबाइल 40-दिवसीय फेस्टिव कार्निवल, मध्य प्रदेश के लकी ड्रा विजेता ने बजाज पल्सर जीता

क्रिप्टोकरेंसी क्या है - What is Cryptocurrency

दोस्तों आप भी जानना चाहते होंगे कि आखिर क्रिप्टोकरेंसी क्या है ? क्यों आज यह पूरे विश्व में एक चर्चित विषय बना हुआ है। आज हमलोग क्रिप्टोकरेंसी क्या है, क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करता है, क्रिप्टोकरेंसी के लाभ और हानि क्या है, के बारे में बहुत ही आसान भाषा में और विस्तार से चर्चा करेंगे। मुझे पूरी आशा है कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको क्रिप्टोकरेंसी के बारे में कोई दुविधा नहीं रह जाएगी -

Cryptocurrency दो शब्दों Crypto और Currency के मिलने से बना है। इसमें Crypto शब्द लैटिन भाषा के शब्द Cryptography से लिया गया है जिसका अर्थ होता है “छुपा हुआ” और लैटिन भाषा के ही शब्द Currentia से Currency शब्द लिया गया है। इस प्रकार क्रिप्टोकरेंसी क्या है? Cryptocurrency का अर्थ हुआ “छुपा/गुप्त पैसा”।

दोस्तों हर देश की क्रिप्टोकरेंसी क्या है? अपनी एक करेंसी यानि मुद्रा होती है, जैसे अमेरीका में डॉलर, साउदी अरब में रियाल, जापान में येन, भारत में रूपया इत्यादि। इन सभी करेंसी का एक वैल्यू/मान होता है, जिसके माध्यम से हमलोग उस करेंसी के ही वैल्यु के बराबर की कोई वस्तु या सेवा (Service) खरीद सकते हैं। इन करेंसियों पर उस देश की सरकारों का नियंत्रण होता है। जैसे संयुक्त राज्य की मौद्रिक नीति फेडरल रिजर्व सिस्टम द्वारा संचालित की जाती है, जो देश के केंद्रीय बैंक के रूप में कार्य करती है। उसी प्रकार भारत की बात करें तो यहाँ की करेंसी यानि रूपया को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी किया जाता है एवं भारत सरकार इस मुद्रा पर नियंत्रण रखती है।

क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी को देश में कानूनी मान्‍यता मिल चुकी है, यहां जानिये इससे जुड़े सवालों के जवाब

क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी को देश में कानूनी मान्‍यता मिल चुकी है, यहां जानिये इससे जुड़े सवालों के जवाब

Cryptocurrency: इस साल क्रिप्टोकरेंसी के भारत में लीगल टेंडर यानी वैधानिक होने की खूब चर्चाएं थीं। सभी कारोबारी व निवेशक यह जानना चाह रहे थे कि सरकार इस पर मुहर लगाती है या नहीं। इसके चलते आम बजट पर सभी की निगाहें थीं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के आभासी संपत्तियों पर कर लगाने के प्रस्ताव ने भारत क्रिप्टोकरेंसी क्या है? में क्रिप्टोकरेंसी की वैधता पर बहस छेड़ दी है। जबकि कई लोगों ने डिजिटल मुद्राओं पर कर लगाने के निर्णय का स्वागत किया है, यह सोचकर कि यह क्रिप्टोकरेंसी क्या है? आभासी मुद्राओं को पहचानने का पहला कदम है, सरकार ने अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया है कि क्या क्रिप्टोकरेंसी क्या है? भारत में बिटकॉइन जैसी मुद्राओं को कानूनी निविदा माना क्रिप्टोकरेंसी क्या है? जा सकता है। आखिर सरकार ने इस विषय पर अपना पक्ष भी स्‍पष्‍ट कर दिया था। गत 1 फरवरी को पेश केंद्रीय बजट 2022-23 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस करेंसी से होने वाली आय पर सरकार कर जरूर लगाएगी लेकिन इसे देश में लीगल टेंडर किया जाना अभी तय नहीं है। हालांकि सरकार ने यह भी साफ कहा था कि इस पर फिलहाल प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा। इसके साथ ही सरकार ने इस आभासी डिजिटल संपत्ति के हस्तांतरण से होने वाली आय पर 30 प्रतिशत कर लगाने का भी प्रस्ताव रखा था। जानिये इसके बारे में कुछ खास बातें।

Cryptocurrency : क्रिप्टोकरेंसी मार्केट से बड़ी खबर, जानें क्या है Cryptocurrency फायदे नुकसान की बात

Cryptocurrency : दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) बाजार का नाम काफी सुर्खियों में है। वर्तमान में लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को अमीर बनने का सबसे सरल मार्ग समझ लिया है। लोग क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) के माध्यम से काफी पैसा कमा रहे हैं। लेकिन क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) से अमीर बनने का रास्ता समझने वाले लोगों के सपने उस वक्त टूट गए जब दुनिया भर की सरकारों ने इस मार्केट पर सख्ती बरतना शुरू किया। सरकारों की सख्तियों के कारण ये मार्केट अचानक से लुढ़कने लग गया। लेकिन बावजूद इसके कई क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) लोगों को कई गुना ज्यादा मुनाफा उपलब्ध करा रही थीं। लेकिन फिलहाल शेयर मार्केट में कुछ क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) अभी भी गिर रही हैं,। जानिए कौनसी क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) जा रही क्रिप्टोकरेंसी क्या है? नीचे.

सरकारी ई-करेंसी CBDC: क्रिप्टोकरेंसी से किस तरह अलग होगी, क्यों महसूस की जा रही है इसकी जरूरत, जानिए सरकारी ई-करेंसी से जुड़े सवालों के जवाब

दूसरे सेंट्रल बैंकों की तरह ही भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) भी अपनी ई-करेंसी यानी सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) की लॉन्चिंग पर काम कर रहा है। गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक मीडिया आउटलेट को हाल ही में दिए इंटरव्यू में कहा था कि इसका ट्रायल दिसंबर तक शुरू किया जा सकता है।

रिजर्व बैंक रुपए पैसों के लेन-देन को सुविधाजनक बनाने क्रिप्टोकरेंसी क्या है? और कागज के करेंसी नोट पर निर्भरता घटाने के लिए अपनी इलेक्ट्रॉनिक करेंसी लाना चाहता है। उसके मुताबिक, क्रिप्टोकरेंसी क्या है? CBDC से पेमेंट सिस्टम को ज्यादा किफायती और ज्यादा रियल टाइम वाला बनाया जा सकता है।

कितना बदला RBI का रुख?


क्रिप्टोकरेंसी कितने प्रकार का होता है? (Types of Cryptocurrency)

वैसे तो क्रिप्टोकरेंसी कई प्रकार के होते हैं पर मैं कुछ मुख्य प्रकार के क्रिप्टो की बात करने जा रहा हूं.
Bitcoin, एथेरियम, tether, BNB, USD coin, solana, XRP, cardano, terra, dog coin, लाइट coin, Dia, Waves इत्यादि.
गौरतलब है कि इन सब में बिटकॉइन काफी प्रचलित है. इसकी लोकप्रियता कुछ इस कदर है कि क्रिप्टो का सीधा सा मतलब लोग बिटकॉइन से समझते हैं.

क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करती है? (cryptocurrency kaise kaam karta hai)

जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि क्रिप्टोकरेंसी किसी भी सरकार द्वारा जारी नहीं किया जाता। अर्थात क्रिप्टो करेंसी पर किसी देश, राज्य अथवा संस्था का नियंत्रण नहीं होता है . तो हम कह सकते हैं कि क्रिप्टो करेंसी एक स्वतंत्र मुद्रा है और इसके लिए क्रिप्टो ग्राफि का प्रयोग किया जाता है. वैसे क्रिप्टोकरेंसी क्या है? जानकारी के लिए बता दूं कि क्रिप्टो करेंसी दरअसल वित्तीय क्रिप्टोकरेंसी क्या है? लेनदेन का एक जरिया है और इससे कोई भी वस्तु खरीदी जा सकती है. इससे स्पष्ट होता है कि क्रिप्टो का काम ठीक वही है जो भारत में भारतीय रुपया, बांग्लादेश में टाका अथवा अमेरिकी डॉलर के क्रिप्टोकरेंसी क्या है? समान ही है.किंतु फिर प्रश्न यह उठता हैं की :-

रेटिंग: 4.43
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 865
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *